• Facebook
  • Instagram
  • YouTube
Search
  • जनकवि निर्दलबंधु ।।

बिश्व् मंदिर बना तो ।। जनकवि निर्दलबंधु

वियोगी हरि का विश्व मंदिर है देश मंदिर मस्जिद का बहाना छोड़ दे अब । दलित स्वर्ण हिंदू मुस्लिम सिख़ ईसाई आपस में लड़ना लड़ाना छोड़ दे अब ।।

राम बावरी विश्वविद्यालय बना वह गुजरा जमाना छोड़ दे अब । एक दूसरे को छेड़ दुखा दुखाकर मानव धर्म को दुखाना छोड़ दे अब ।।

मानवता के अवतारों की वह सोच वह राह ठुकराना छोड़ दे अब । युग चेतना संवेदना जाग उठी है मद मोद में इतराना छोड़ दे अब ।।

15 views