• Facebook
  • Instagram
  • YouTube
Search
  • जनकवि निर्दलबंधु ।।

तब नवनिर्माण होगा ।।जनकवि निर्दलबंधु

सन 2022 तक मोदी के स्वप्न का एक नया भारत साकार होगा । अभी हाल करोड़ों भारतीयों में पड़ा यह एक ज्वलंत समाचार होगा ।।

इन 5 सालों में जहां सबसे अधिक घुट रहा यह बेघर संघर्षकार होगा । 'मोदी ही प्रधानमंत्री होंगे' क्यों लिख गया यह कलमकार होगा ।।

इसलिए की खूब परख हुई अब देश का बेड़ा बीच मझधार होगा । दागी बागियों के हाथ पतवार होगी फिर कौन सुन रहा चीख-पुकार होगा ।।

जयकार से गूंज रहा आसमान होगा धरती पर छल पाप दुराचार होगा । लो आम आदमी का जीना मरना हो रहा यहां बड़ा दुश्वार होगा ।।

हिंशा बलात्कार चोरी गुंडागर्दी और विकराल परिस्थितियों का अंबार होगा । सुखचैन उजड़ रहा होगा हर तरफ सबसे बुरे दिनों का हायकार होगा ।।

देख झेल रही होंगी प्रजा नजारे जब सच परिवर्तन का फूट रहा उद्गार होगा । मिलजुल कर घर गांव से तब देश काल का पुनः नवनिर्माण होगा ।।

1 view